संघ प्रमुख मोहन भगवत का बड़ा बयान,बोले – देश में रहने वाला हर नागरिक हिंदू…

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत अपना पांच दिवसीय त्रिपुरा का दौरा कर रहे हे | दौरे के दौरान उन्होंने यह कह दिया कि ‘भारत में रहने वाला हर व्यक्ति हिंदू है, वह चाहे कोई भी हो |मेघालय के मुख्यमंत्री व कांग्रेस नेता मुकुल संगमा ने इसकी आलोचना की ।संगमा ने कहा कि धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान का हिस्सा है | दूसरे नेताओं ने भी भागवत के बयान की आलोचना करते हुए कहा है कि धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक देश में ऐसा बयान देना ठीक नहीं है। बता दें कि अगले साल फरवरी में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर सांगठनिक ताकत का जायजा लेने के लिए भागवत ने राज्य का पांच दिवसीय दौरा किया। वह मंगलवार को अपना दौरा खत्म कर दिल्ली लौट गए। इसके साथ ही कांग्रेस ने एक नया मुद्दा उठा लिया |
अपने दौरे के दौरान संघ प्रमुख ने स्वयंसेवकों के साथ बैठक करने के अतिरिक्त एक रैली को भी संबोधित किया। भागवत ने अपने संबोधन में कहा कि दुनिया भर से अत्याचार के शिकार हिंदू शरण के लिए भारत आते हैं। दुनिया ताकत में जबकि हिंदू सत्य पर भरोसा करता है। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व व हिंदूवाद में अंतर है। हिंदूवाद की सबसे अच्छी बात यह है कि यह किसी भी धर्म के लिए खतरा नहीं है। उन्होंने हिंदुओं से बुरी ताकतों के खिलाफ एकजुट होने की अपील करते हुए कहा कि देश का हर नागरिक हिंदू है, चाहे वह किसी भी धर्म को मानने वाला क्यों न हो।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने  बुरी ताकतों से मातृभूमि और भारतीय दर्शन की रक्षा के लिए हिंदुत्व में भरोसा रखने वालों से एकजुट होने की अपील की। वे अपने पांच दिवसीय त्रिपुरा दौरे के तीसरे दिन स्वामी विवेकानंद स्टेडियम में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। भागवत ने मानवता को मजबूत करने और जीवों के खिलाफ क्रूरता का विरोध करने के लिए सभी धर्मों के लोगों से एकजुट होने की भी अपील की।