सक्रिय हुआ एटीएम कार्ड बदलकर पैसे उड़ाने वाला गिरोह, ठगों से ऐसे बचें

रायपुर। अगर आप एटीएम से पैसा निकालने जा रहे हैं तो सावधान हो जाए, क्योंकि राजधानी में फिर से एक गिरोह सक्रिय हो गया है। यह गिरोह पैसा निकालने में मदद के बहाने आपके कार्ड को बदलकर दूसरा नकली कार्ड थमा देगा और पलभर में आपका खाता खाली कर देगा। यही नहीं, अगर आपके पास फोन आए और फोन करने वाला यह कहे- हैलो, मैं आपके बैंक से मैनेजर बोल रहा हूं।

आपके एटीएम कार्ड को आधार से लिंक करना है तो उसके झांसे में न आएं। अगर आप एटीएम को आधार से जोड़ने के झांसे में आ गए तो नुकसान झेलेंगे, इसलिए बैंक खाते की गोपनीय जानकारी किसी से शेयर न करें। दरअसल साइबर ठग लोगों को शिकार बनाने के लिए यह हथकंडा अपना रहे हैं।

राजधानी रायपुर में लगातार साइबर ठगी के मामले बढ़ रहे हैं। साइबर ठग लोगों को विभिन्ना तरीकों से झांसे में लेकर उनके खातों से धनराशि निकाल रहे हैं। लोगों को किसी तरह के प्रलोभन में आने की जरूरत नहीं है। केवल जागरूक होकर इन शातिर ठगों से बचा जा सकता है।

एटीएम फ्रॉड के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसा नहीं है कि अशिक्षित ही ठगी के शिकार हो रहे हैं, बल्कि शिक्षित व जागरूक भी आसानी से ठगों के झांसे में आकर अपनी गाढ़ी कमाई गंवा रहे हैं। वहीं एटीएम कार्ड बदलकर रकम निकालने के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ठग लोगों को झांसे मे लेकर उनके डेबिट, क्रेडिट कार्ड एवं ओटीपी की जानकारी प्राप्त कर उनके बैंक खातों रकम उड़ा रहे हैं।

यहां का गिरोह

साइबर ठगों का गढ़ झारखण्ड का जामताड़ा है। हालांकि बिहार, उप्र, दिल्ली के ठग भी लोगों को झांसे में लेकर उनका खाता खाली कर रहे है। पुलिस ने ऐसे दर्जनों गिरोह का राजफाश कर उनके सदस्यों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। फिर भी ठगी के मामलों में कमी नहीं आ रही है।

ऐसे बचाव करें

0 फोन पर स्वयं को जब कोई व्यक्ति बैंक अधिकारी,एटीएम मुख्यालय सेन्टर का होना बताकर बात करता है तो तत्काल संबंधित बैंक से जानकारी हासिल करें।

0 अपने बैंक, एटीएम कार्ड का पीन, पासवर्ड आदि की जानकारी किसी से शेयर न करें।

0 बैंक से रकम निकालने व जमा करते समय आसपास खड़े लोगों को देख लें। संभव हो तो उनका फोटो मोबाइल से खींचकर रख लें।

0 एटीएम कार्ड किसी भी अनजान व्यक्ति को न थमाएं।

0 एटीएम मशीन से पैसा निकालने के बाद कैंसल का बटन दबाकर 30 सेकंड बाद ही बाहर निकलें।

0 एटीएम मशीन में अपना कार्ड स्वैप करने से पहले उपर तरफ यह देख लें कि कहीं कोई हिडन कैमरा या फिर कार्ड को स्केन करने वाला स्कीमर तो नहीं लगा है।

0 एटीएम मशीन में पासवर्ड डालते समय पूरी तरह से सावधानी बरतें। यह देख लें कि आसपास कोई खड़ा होकर पासवर्ड तो नहीं देख रहा है।

यहां कॉल कर दर्ज कराएं शिकायत

यदि आपके साथ किसी तरह की साइबर ठगी हुई है तो तत्काल डॉयल 112, 100, 07714287100, 07714247198, 07714247191, 9479191017(डीएसपी क्राइम), 9479191019(क्राइम ब्रांच प्रभारी) पर सूचना देकर संबंधित थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराएं।