सपा ने सोमवार को पहले चरण में चुनाव वाले 24 जिलों में नगरीय निकायों के सभी प्रत्याशी फाइनल कर दिए

सपा ने सोमवार को पहले चरण में चुनाव वाले 24 जिलों में नगरीय निकायों के सभी प्रत्याशी फाइनल कर दिए। जिलाध्यक्षों व जिला प्रभारियों को प्रत्याशियों के चुनाव चिह्न भी आवंटित कर दिए गए। वे जिलों में जाकर प्रत्याशियों को पार्टी प्रत्याशी होने का अधिकार पत्र दे देंगे। विषम परिस्थिति में वे प्रत्याशी में बदलाव भी कर सकते हैं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को प्रदेश कार्यालय में इन 24 जिलों के जिला, महानगर अध्यक्षों व प्रभारियों की बैठक बुलाई थी। उन्होंने दो घंटे तक जिलाध्यक्षों व प्रभारियों से संवाद किया। अखिलेश ने कहा, नगरीय निकायों के चुनाव महत्वपूर्ण हैं। जो भी प्रत्याशी तय किया गया है, उसे एकजुट होकर चुनाव लड़ाएं। अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं होगी। जो भी पार्टी विरोधी गतिविधि करेगा, उसे बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश व केंद्र की भाजपा सरकार ने कोई काम नहीं किया है। विकास कार्य ठप हैं। सपा सरकार में जिन कामों का उद्घाटन हो गया था, उनका दोबारा उद्घाटन हो रहा है। देर शाम तक बंटते रहे चुनाव चिह्न
जिलाध्यक्षों व जिला प्रभारियों को प्रत्याशियों के अधिकार पत्र वाला फॉर्म बी दे दिया गया। देर शाम तक जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट से सिम्बल बांटने का काम जारी थी। जिला अध्यक्ष नगरपालिका परिषद, नगर पंचायतों के अध्यक्षों व सभासदों को सिम्बल देंगे। प्रभारी व महानगर अध्यक्ष को मेयर व पार्षद प्रत्याशियों को सिम्बल देने के लिए अधिकृत किया गया है। पहले चरण में 24 जिलों में चुनाव होना है, उन सभी में मेयर, अध्यक्ष, पार्षद व सभासद पद के लिए चुनाव चिह्न आवंटित किए गए। बैठक के दौरान एलईडी स्क्रीन पर कैसरगंज से भाजपा सांसद बृजभूषण शरण सिंह की सीडी दिखाकर खनन व जीएसटी पर उनके सांसदों, विधायकों की पोल खोली गई। इस सीडी में एक सवाल के जवाब में बृजभूषण यह कहते हुए दिखाई पड़ रहे हैं कि मैं जीएसटी-वीएसटी को नहीं जानता। धड़ल्ले से अवैध खनन पर वह कहते हैं, कार्रवाई सरकार को करनी है। हम जानकारी दे सकते हैं और हमने जानकारी दे दी है। इस सीडी पर अखिलेश ने कहा कि भले ही खनन पर रविवार को कार्रवाई हुई हो लेकिन जिलों की स्थिति का पता लग रहा है।