साउथ कैंपस से मजलिस पार्क तक मेट्रो होगी शुरू, कल शाम 6 बजे से कर सकेंगे यात्रा

नई दिल्ली.दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन बुधवार शाम 6 बजे से दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस से मजलिस पार्क (21.6 किमी) तक शुरू हो जाएगी। फेज-3 के इस सेक्शन की सबसे बड़ी खासियत यह है कि दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस स्टेशन और एयरपोर्ट लाइन का धाैला कुआं स्टेशन 920 मीटर लंबे एफओबी से जुड़ेगा। अलग-अलग नाम वाले स्टेशन में पहली बार इंटरचेंज की सुविधा देगा। अभी तक इंटरचेंज की सुविधा जहां भी है, वहां स्टेशन के नाम एक ही रहते हैं। यात्रियों को ज्यादा चलना न पड़े, इसलिए 22 ट्रेवलेटर्स लगे हैं। ये पहली बार लगाए गए हैं।

अक्सर एयरपोर्ट में ट्रेवलेटर्स होते हैं। दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस से एयरपोर्ट लाइन तक ऊपरी मार्ग से ट्रेवलेटर पर चलकर दूसरे स्टेशन तक पहुंचने की सुविधा जून, 2018 से मिलेगी। पूरा सेक्शन सोमवार को पहली बार मीडिया के लिए खोला गया। इसी सेक्शन के राजौरी गार्डन स्टेशन में पुरानी ब्लू लाइन मेट्रो के स्टेशन से इंटरचेंज की सुविधा के लिए 250 मीटर लंबे एफओबी में चार ट्रेवलेटर पहले दिन से शुरू हो जाएंगे। यहां दो टुकड़ों में लगा ट्रेवलेटर चलता रहेगा।

इस सेक्शन में 12 स्टेशन हैं, हर स्टेशन पर 20 सेकेंड रुकेगी मेट्रो

पिंक लाइन के इस सेक्शन में 12 स्टेशन हैं जिस पर ट्रेन औसत 34.84 किमी प्रतिघंटा की स्पीड से चलेगी। पूरी 21.6 किमी की दूरी 34 मिनट 21 सेकेंड में तय होगी। ट्रेन हर स्टेशन पर 20 सेकेंड रुकेगी। सेक्शन के चीफ प्रोजेक्ट मैंनेजर सीलम अहमद के अनुसार पूरे सेक्शन में सिर्फ दो स्टेशन मजलिस पार्क और मायापुरी में पार्किंग की सुविधा है। बाकी स्टेशन पर पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए ड्रापिंग सुविधा विकसित की गई है। पूरा सेक्शन करीब 5 साल में बनकर तैयार हुआ है।

समय भी बचेगा : 84 मिनट का सफर करीब 68 मिनट में होगा पूरा

द्वारका सेक्टर 21 से रिठाला तक अभी 84 मिनट लगते हैं। अब राजौरी गार्डन व नेताजी सुभाष प्लेस के इंटरचेंज से 67 मिनट 50 सेकेंड लगेंगे। द्वारका सेक्टर-21 से बादली जाने में 20 मिनट, राजौरी गार्डन से नेताजी सुभाष प्लेस जाने में 26 मिनट, राजौरी गार्डन से आजादपुर जाने में 30 मिनट, समयपुर बादली से रिठाला जाने में 17 मिनट, आजादपुर से नेताजी सुभाष प्लेस जाने में 29 मिनट बचेंगे।

हर मेट्रो में 38 सीसीटीवी कैमरे, अभी 6 काेच की मेट्रो ही चलेगी

डीएमआरसी रॉलिंग स्टॉक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर ओम हरि पांडेय ने बताया कि इस कॉरिडोर पर हर मेट्रो में 38 सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। ड्राइवर कोच में सबसे अधिक 9 सीसीटीवी हैं। ड्राइवर केबिन के आगे दो कैमरे हैं जो एक ट्रैक और एक ओएचई पर नजर रखेगा। ड्राइवर कोच के नीचे ही ऑब्स्ट्रक्शन डिटेक्टर भी लगा है, अगर ये कुछ पकड़ेगा तो ट्रेन के ब्रेक खुद लग जाएंगे। मेट्रो की सबसे लंबी लाइन पर 6 कोच वाली ट्रेन ही चलेगी। इसमें से 4 मोटर कोच हैं। इससे ट्रेन जल्दी स्पीड पकड़ेगी। 20 फीसदी ऊर्जा की बचत भी होगी।

इस लाइन पर पीक आवर में हर 3 मिनट 28 सेकेंड पर मिलेगी मेट्रो

पिंक लाइन पर दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस से शकूरपुर तक पीक आवर में मेट्रो हर 3 मिनट 28 सेकेंड पर मिलेगी। दुर्गाबाई देशमुख साउथ कैंपस स्टेशन, दिल्ली कैंट, नारायणा विहार, मायापुरी, राजौरी गार्डन, ईएसअाई हॉस्पिटल, पंजाबी बाग वेस्ट से शकूरपुर तक ट्रेन की फ्रीक्वेंसी 3 मिनट 28 सेकेंड तो ऑफ पीक आवर में 4 मिनट पर होगी। लेकिन इससे अागे नेताजी सुभाष प्लेस, शालीमार बाग, आजादपुर और मजलिस पार्क तक के लिए 5 मिनट 12 सेकेंड की फ्रीक्वेंसी पर मेट्रो मिलेगी। ऑफ पीक आवर में इस सेक्शन पर 6 मिनट में ट्रेन आएगी। शुरुआत में इस सेक्शन पर 19 ट्रेनें उतारी जाएंगी, जरूरत होने पर बढ़ाई भी जा सकती हैं।