सिम्स: पुरुष मरीज बढ़े तो उन्हें भर्ती करा दिया महिला वार्ड में

बिलासपुर।सिम्स में आने वाले मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद भी प्रबंधन द्वारा संसाधन की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी के चलते पुरुष मरीजों की संख्या बढ़ने पर उन्हें महिला वार्ड में भर्ती करा दिया गया। वहीं भर्ती मरीजों को भी महिला वार्ड में होने की जानकारी नहीं है। दूसरी तरफ सिम्स प्रबंधन को इसकी जानकारी ही नहीं है।
– सिम्स में पुरुष और महिला वार्ड ठीक आमने-सामने हैं। इन दोनों वार्ड की क्षमता भी 6-6 पलंग की है। शनिवार को सिकलसेल बीमारी से पीड़ित कपिल नगर निवासी ईश्वर चंद तथा मलेरिया तथा गैस्ट्रिक से पीड़ित पेंड्रा रोड निवासी अशोक कुमार जब सिम्स परीक्षण कराने पहुंचे तो जांच के बाद डॉक्टरों ने उन्हें भर्ती होने की सलाह दी।
– मेडिकल वार्ड में भर्ती करने के लिए कह दिया गया। यह मरीज जब उक्त वार्ड में पहुंचे तो वहां के सभी पलंग फुल थे। इसलिए भर्ती करने वालों ने सामने वाले महिला वार्ड में भर्ती कर दिया। फिलहाल इन दोनों मरीजों का उपचार महिला वार्ड में चल रहा है।
आमतौर पर ऐसा होता नहीं है
– आमतौर पर ऐसा होता नहीं है कि महिला वार्ड में पुरुष मरीज को भर्ती करा दिया जाए। पुरुष वार्ड में महिला मरीज को तो भर्ती किया जा सकता है पर महिला वार्ड में पुरुष को नहीं। ऐसा स्टाफ ने कैसे कर दिया यह मैं पता करता हूं।