सुप्रीम कोर्ट ने डेरा प्रमुख को लगाई फटकार

नई दिल्ली : डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को सुप्रीम कोर्ट से गहरा झटका लगा है. कोर्ट ने 14 साल पुराने रेप के मामले में गुरमीत की दलील को ख़ारिज कर कड़ी फटकार लगाई. सुप्रीम कोर्ट ने उस याचिका को ख़ारिज कर दिया जिसमें रेप के एक मामले में पीड़ित महिला की हस्तलिपि और हस्ताक्षर के नमूनों की जाँच कराने की अपील की गई थी.

सुप्रीम कोर्ट ने कहा अगर कोई लेटर लिखता है और कहता है बाबाजी आई लव यु तो इसका मतलब यह नहीं है कि वह उपलब्ध है. गौरतलब है कि एक महिला ने डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज कराया था. इस मामले में बाबा अभी जमानत पर हैं. सीबीआई अदालत में इस मामले की सुनवाई लगातार चल रही है. इस मामले में अदालत जल्द ही अपना फैसला जल्द ही सुनाएगी.

इसी मामले में साल भर पहले गुरमीत राम रहीम ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में दो पीड़ितों में से एक की हस्तलिपि और हस्ताक्षर की जांच केंद्रीय प्रयोगशाला चंडीगढ़ के अलावा दूसरी जगह से कराने की मांग की गई थी जिसे कोर्ट ने ख़ारिज कर दिया था.

1999 में सामने आये इस मामले में 2002 में गुरमीत राम रहीम के खिलाफ केस दर्ज किया गया. हाईकोर्ट ने सीबीआई जाँच के आदेश दिए जिसकी जाँच में सीबीआई ने आरोपों को सही पाया गया और 31 जुलाई 2007 को विशेष अदालत में आरोप पत्र दाखिल किया गया था .

Leave a Reply