सुल्तानिया अस्पताल में आज से नर्सेस की हड़ताल, परेशान होंगे मरीज

सुल्तानिया अस्पताल में चार नर्सेस के निलंबन का विरोध तेज हो गया है। बहाली की मांग को लेकर अस्पताल की सभी नर्सेस बुधवार से बेमियादी हड़ताल पर रहेंगी। हड़ताल के चलते मरीजों को इलाज में मुश्किल आएगी। हेल्थ एंड मेडिकल एजुकेशन एम्प्लाइज एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह कौरव ने कहा है कि जब तक निलंबित नर्सों की बहाली नहीं की जाती नर्सेस काम पर नहीं लौटेंगी। नर्सेस के निलंबन के विरोध में मंगलवार को 2 बजे एसोसिएशन के बैनर तले करीब 50 नर्सेस ने अस्पताल के सामने प्रदर्शन किया।

सुल्तानिया अस्पताल में एक मरीज को एनेस्थीसिया देने के बाद डॉक्टर निडिल निकालना भूल गए थे। यह खबर मीडिया में आने के बाद गायनकोलॉजी विभाग की प्रमुख डॉ. अरुणा कुमार व अन्य दो डॉक्टरों ने अपनी जांच रिपोर्ट में इसके लिए नर्सेस को जिम्मेदार बताया था। इसके बाद चार नर्सेस का निलंबन व चार को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। जीएमसी के डीन डॉ. एमसी सोनगरा ने कहा नर्सेस को हड़ताल न करने की समझाइश दी गई है। फिर भी हड़ताल हुई तो वैकल्पिक व्यवस्था की जाएगी।

———

अव्यवस्थाओं से नाराज सुल्तानिया के प्रशासक ने दिया इस्तीफा

सुल्तानिया अस्पताल के प्रशासक कर्नल एस रवीन्द्रन पिल्लई ने पिछले हफ्ते इस्तीफा दे दिया है। वे अस्पताल कीन अव्यवस्थाओं से नाराज थे। उन्होंने बताया अस्पताल में अव्यवस्थाओं की पूरी जानकारी मय दस्तावेज शासन को देंगे।