सेना भर्ती में आए युवकों का जबलपुर में उपद्रव, तोड़फोड़, पथराव और आगजनी

जबलपुर . सेना की भर्ती में आए युवकों ने मंगलवार सुबह पेन्टीनाका, कैरव्ज चौक और रेलवे स्टेशन में जमकर तांडव किया। बेकाबू युवकों ने दुकानों और रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ करने के बाद पथराव कर दिया। इस दौरान कई दुकानों में लूटपाट भी की गई। युवकों ने कई फ्लैक्स जला दिए। इस दौरान सड़क से निकल रहे राहगीरों के साथ भी अभद्रता और छीना-झपटी की गई। पुलिस ने लाठीचार्ज कर युवकों को खदेड़ दिया। इसके बाद स्थिति काबू में आ पाई। हंगामे के दौरान लगभग दो घंटे तक अफरा-तफरी का माहौल बना रहा।
केन्ट के इंदिरा गांधी मैदान पर 114वीं इंफेन्ट्री बटालियन में लगभग 85 पदों के लिए तीन दिन से भर्ती प्रक्रिया चल रही है। मंगलवार सुबह उत्तरप्रदेश के लगभग 19 हजार युवक भर्ती के लिए आए हुए थे। युवक भर्ती मैदान में जाने के लिए सुबह 3 बजे से ही लाइन में लग गए थे। पेन्टीनाका पर सुबह 6 बजे युवकों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। देखते ही देखते युवक बेकाबू होकर उग्र हो गए। युवकों ने सबसे पहले आसपास लगी चाय-नाश्ते की दुकानों में तोड़फोड़ की।
– इसके बाद दुकानों पर पथराव करना शुरू कर दिया। इससे भगदड़ की स्थिति बन गई। युवकों ने पेन्टीनाका और अशोक रोड सदर पर लगे फ्लैक्सों को फाड़कर जलाना शुरू कर दिया। घटना की खबर मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने लाठीचार्ज कर युवकों को खदेड़ दिया। बड़ी संख्या में युवक भागकर कैरव्ज चौक पर आ गए।
डायल-100 पर पथराव स्टाॅपर जलाया
– पेन्टीनाका से भागकर आए युवकों ने कैरव्ज चौक पर हंगामा करना शुरू कर दिया। युवकों ने चाय-नाश्ते की दुकानों में तोड़फोड़ और लूटपाट की। इसके बाद बिल्डिंगों में पथराव शुरू कर दिया। जब डायल-100 के सिपाहियों ने युवकों को रोकने की कोशिश की तो उन्होंने डायल-100 पर पथराव कर दिया। इसके बाद युवकों ने पुलिस के स्टॉपर को जला दिया। इसके बाद मौके पर पुलिस पहुंच गई। पुलिस ने उपद्रवियों पर हल्का बल प्रयोग कर खदेड़ दिया। इससे भगदड़ का माहौल बन गया। यहां से ज्यादातर युवक मुख्य रेलवे स्टेशन की तरफ भागे।
ग्वालियर की घटना से नहीं लिया सबक
– पिछले साल ग्वालियर में सेना की भर्ती के दौरान युवकों ने जमकर तोड़फोड़ और पथराव किया था। इस घटना से भी जबलपुर के पुलिस और सैन्य प्रशासन ने सबक नहीं लिया। भर्ती के दौरान उपद्रव और हंगामा रोकने के लिए पर्याप्त इंतजाम नहीं किए गए। इसकी वजह से भर्ती के दौरान इतना बड़ा हंगामा हो गया।
– पुलिस की लापरवाही से बेकाबू हुए युवक | क्षेत्रीय लोगों का कहना था कि तीन दिन से हजारों की संख्या में युवक फुटपाथ और घरों के सामने सो रहे थे। यहां-वहां घूम रहे थे, लेकिन पुलिस ने युवकों के पेट्रोलिंग की व्यवस्था नहीं की। इसकी वजह से युवक बेकाबू हो गए और हंगामा मचा दिया।
– मौके पर पहुंचे वरिष्ठ अधिकारी | सूचना मिलते ही एएसपी जीपी पाराशर, संजीव उइके सीएसपी केन्ट एमपी प्रजापति, ओमती सीएसपी अजीम खान, केन्ट टीआई प्रफुल्ल श्रीवास्तव, ओमती टीआई अरविन्द चौबे, गोराबाजार टीआई देवेन्द्र प्रताप सिंह, रांझी टीआई मधुर पटेरिया मौके पर पहुंच गए।
युवकों ने स्टेशन पर तोड़ी एटीवीएम
– सेना में भर्ती होने आए युवकों ने उत्पात मचाते हुए स्टेशन पर हंगामा किया। हजारों की संख्या में जमा युवकों ने ऑटो मेटिक वेडिंग मशीन एटीवीएम को तोड़ उसमें रखा सामान निकाल ले गए। इसके बाद केन्टीन और स्टॉल पर खान-पान सामग्री की लूटपाट पर वेण्डरों से मारपीट की गई। भर्ती प्रक्रिया से बाहर हुए युवकों ने ज्यादातर ट्रेनों में चैन पुलिंग की, जिससे गोंडवाना सहित अधिकांश ट्रेनें विलंब से रवाना हो सकी। स्टेशन पर युवकों के उपद्रव करने के बाद बेकाबू हालत को देखते हुए आरपीएफ-जीआरपी ने मोर्चा संभाला, जिसके बाद स्थिति को नियंत्रण में किया जा सका। स्टेशन पर तीन दिन से जमा युवकों के कारण नियमित यात्रियों को आवाजाही मंे दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
रेलवे को नुकसान
– पार्सल आॅफिस में रखे सामान की चोरी।
– स्टेशन के एटीएम में की गई तोड़फोड़।
– स्टॉल से उठा ले गए कीमती सामान।
– डाउन की सभी ट्रेनों में किया कब्जा।
– आरक्षण चार्ट डिस्प्ले का फोड़ दिया कांच।
– हर ट्रेन में बिना टिकट थे सवार।
– काउंटरों पर किया हंगामा।
– महिला यात्रियों से की अभद्रता।
चाय-नाश्ते की दुकानों में तोड़फोड़, ठेले पलटाए
उपद्रवी युवकों ने हंगामे के बाद पेन्टीनाका और कैरव्ज चौक के पास लगी चाय-नाश्ते की दुकानों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। बचने के लिए दुकानदार अपनी-अपनी दुकान समेट कर भागे। युवकों ने कई दुकानों पर पथराव भी किया। उपद्रवी युवकों ने कई फलों के ठेलों को भी पलटा दिया।
फ्लैक्स पर उतारा गुस्सा – भर्ती में आए युवकों ने पेन्टीनाका के आसपास लगे फ्लैक्सों को फाड़ दिया। स्थानीय लोग युवकों को फ्लैक्स फाड़ते देखते रहे। इसके बाद युवकों ने फ्लैक्स में आग लगाना शुरू कर दिया। हालत इतने बेकाबू हो गए कि युवकों ने कई बोर्ड उखाड़कर फेंक दिए। राहगीरों ने समझाने की कोशिश की तो युवक उनके साथ भी गाली-गलौज करने लगे।
युवकों ने स्टेशन पर तोड़ी एटीवीएम
सेना में भर्ती होने आए युवकों ने उत्पात मचाते हुए स्टेशन पर हंगामा किया। हजारों की संख्या में जमा युवकों ने ऑटो मेटिक वेडिंग मशीन एटीवीएम को तोड़ उसमें रखा सामान निकाल ले गए। इसके बाद केन्टीन और स्टॉल पर खान-पान सामग्री की लूटपाट पर वेण्डरों से मारपीट की गई। भर्ती प्रक्रिया से बाहर हुए युवकों ने ज्यादातर ट्रेनों में चैन पुलिंग की, जिससे गोंडवाना सहित अधिकांश ट्रेनें विलंब से रवाना हो सकी। स्टेशन पर युवकों के उपद्रव करने के बाद बेकाबू हालत को देखते हुए आरपीएफ-जीआरपी ने मोर्चा संभाला, जिसके बाद स्थिति को नियंत्रण में किया जा सका। स्टेशन पर तीन दिन से जमा युवकों के कारण नियमित यात्रियों को आवाजाही मंे दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।