सोमवती अमावस्या आज, पितृदोष शांति का है इस दिन विशेष महत्व :

आज  सोमवती अमावस्या है। सोमवती अमावस्या पर इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ ही पितृदोष शांति का विशेष योग बना है। ज्योतिष के अनुसार ऐसे योग कम देखने को मिलते हैं। अमावस्या पर इस दुर्लभ योग के बनने का लाभ ऐसे जातकों को मिल सकता है, जिनकी जन्मपत्रिका में चांडाल योग, विष योग, अमावस्या दोष, कालसर्प और पितृदोष जैसे दोष हैं। ऐसे जातक इस दिन विधि विधान के साथ उक्त दोषों की शांति करवा सकते हैं।आज का दिन किसी भी शुभ काम के लिए ठीक नहीं है पर वही देखा जाये तो पूजा पथ की दृष्टि से आज का दिन अति शुभ है
वही पर कुछ पंडितो ने बताया कि अमावस्या के दिन अमा नाम की किरण की प्रधानता रहती है। सूर्य और चंद्र की यति सोमवार के दिन सोमवती अमावस्या घटित होता है। इस बार यह योग 18 दिसंबर को पड़ रहा है। इसी दिन सुबह सवार्थ सिद्धि योग सुबह 7ः25 बजे तक रहेगा।
उनके अनुसार इस दिन गंगा स्नान, तीर्थ स्नान करने के बाद दानपुण्य करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। जिन जातकों की जन्मपत्रिका में पितृदोष या अन्य कोई दोष है अथवा घर की किसी प्रेतबाधा से आप पीड़ित हैं तो अपने पितृ देवताओं को गंगा स्नान कराएं। जहां विधि विधान से पूजा कर गीता का पाठ करने से इन समस्याओं से निराकरण होगा।