सोमवती अमावस्या पर बन रहा कुंडली दोष निवारण का बना महासंयोग….

इस बार सोमवती अमावस्या बहुत ही शुभ फल देने वाली साबित होने वाली है |शास्त्रों में भी इस दिन का उल्लेख मिलता है |इस बार जिन संयोगो के साथ सोमवती अमावस्या आयी है ,वो अनेक खुशियों के साथ साथ कुछ विशेष महासंयोग भी अपने साथ लेकर आयी है | इस बार सोमवती अमावस्या 18 दिसंबर को है और इस दिन एक महासंयोग बन रहा है। इस महासंयोग के अलावा इस बार की सोमवती अमावस्या अपने आप में खास है, क्योंकि तीन साल बाद ये अमावस्या पौष मास में पड़ रही है। वैसे जो महासंयोग इस बार बन रहा है, वो आपकी कुंडली के कई दोषों को खत्म कर सकती है, लेकिन अगर आप इसमें अगर मौके का लाभ उठाने में वंचित रह गए तो फिर 2028  तक इंतजार करना होगा,क्योकि फिर दुबारा एक लम्बे अंतराल के बाद ऐसे महासंयोग बनेंगे |पौष माह के आने वाली सोमवती अमावस्या को इस बार सर्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है। माना जा रहा है इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करके पूजा पाठ करने से विशेष पुण्‍य मिलता है। साथ ही इस योग के कारण पूजा का महत्व भी बढ़ जाता है।जिन लोगों की कुंडली में विष योग, काल सर्प दोष, अमावस्या दोष है, वो लोग इस दिन अपने दोष का निवारण कर सकते हैं। वैस पितरों को शांत करने के लिए भी ये खास योग है।सोमवती अमावस्या पर सूर्य देव को ताम्र बर्तन में लाल चंदन, गंगा जल मिलाकर  सूर्य को जल अर्पण करे एवं अपने पितरो को तृप्त करे,ध्यान रहे ये पितरो की दृष्टि से यह दिन अत्यंत महत्वपूर्ण है |