स्वाइन फ्लू के दो संदिग्ध मरीज पहुंचे सिम्स

सिम्स में बुधवार को स्वाइन फ्लू के दो संदिग्ध मरीजों को भर्ती किया गया। दोनों जांजगीर जिले के रहने वाले हैं। इन्हें पिछले कुछ दिनों से तेज बुखार और सर्दी की शिकायत है। प्रारंभिक जांच के बाद डॉक्टरों ने इनकी हालत गंभीर बताई है।

एक पखवाड़े से स्वाइन फ्लू के नए मरीज मिलने बंद हो गए थे। स्वास्थ्य विभाग ने भी स्थिति नियंत्रण में होने का दावा किया था। वहीं, बुधवार को फिर से स्वाइन फ्लू के दो संदिग्ध मरीज मिल गए। जाजंगीर में निवासी दो युवकों को सिम्स में भर्ती कराया गया है। इनकी जांच में डॉक्टरों ने स्वाइन फ्लू का लक्षण पाया है। इनका सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है। अब तक जिले में 3 दर्जन से ज्यादा स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीज मिले हैं। इनमें से 4 की मौत हो चुकी है। वहीं अपोलो हॉस्पिटल में अभी भी आधा दर्जन से ज्यादा स्वाइन फ्लू के संदिग्ध मरीजों का उपचार चल रहा है।

शासन से मांगी एंटी स्वाइन फ्लू वैक्सीन

सिम्स में एंटी स्वाइन फ्लू की वैक्सीन खत्म हो गई है। प्रबंधन ने 500 वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए राज्य शासन को डिमांड भेजा है। शासन ने पहले ही अस्पताल में काम करने वालों को स्वाइन फ्लू की चपेट में आने से बचाने के लिए वैक्सीन लगाने के निर्देश दिए हैं। वर्तमान में टीबी और स्वाइन फ्लू के लिए बने विशेष वार्ड में काम करने वालों को ही वैक्सीन लगी है।

ठंड के साथ मरीजों के बढ़ने की आशंका

सिम्स के क्षय रोग विशेषज्ञ डॉ. पुनित भारतद्वाज ने बताया कि स्वाइन के वायरस ठंड में ज्यादा सक्रिय होते हैं। अब मौमस बदलने के साथ इनके मरीजों की संख्या में इजाफा हो सकता है। वैक्सीन लगाकर इनसे बचा जा सकता है।

सिम्स में अभी स्वाइन फ्लू के दो संदिग्ध मरीजों का उपचार चल रहा है। जांच के लिए सैंपल रिपार्ट लैब में भेजा गया है।

डॉ. रमणेश मूर्ति

एमएस, सिम्स