स्वास्थ्य मंत्री के बंगले में लार्वा, 74 बंगला भी चपेट में

भोपाल.शहर में डेंगू का कहर बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य महकमे और नगर निगम की लापरवाही का आलम यह है कि शहर में हर चौथे घर में डेंगू का लार्वा निकल रहा है। स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह के बंगले में लार्वा निकला है। मुख्यमंत्री के उपसचिव और बीडीए सीईओ नीरज वशिष्ठ डेंगू के बाद ठीक होकर काम पर लौटे हैं। आईएएस संजय गोयल की पत्नी को डेंगू हुआ है। अब तक 600 से ज्यादा डेंगू के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। उधर सिविल सर्जन आई के चुघ भी डेंगू से पीड़ित थे, वे हाल ही में स्वस्थ होकर काम पर लौटे हैं।
भोपाल में वीवीआईपी इलाके में डेंगू का लार्वा निकल रहा है। डेंगू का कहर लगातार बढ़ रहा है। अभी तक शहर में डेंगू की चपेट में 641 मरीज आ चुके हैं। रोजाना डेंगू के 20 से 25 मरीज सामने आ रहे हैं। जेपी अस्पताल में अभी डेंगू के 20 मरीज भर्ती है। इनकी हालत स्थिर है। अभी तक पांच मरीजों की डेंगू से मौत हुई है। रविवार को राजधानी में 98 मरीजों की जांच हुई जिनमें से 24 की रिपोर्ट डेंगू पॉजीटिव आई है। ऐसे ही चिकनगुनिया के पांच नए मरीज एक दिन में सामने आए हैं।
चिकनगुनिया के 235 मरीज
राजधानी में चिकनगुनिया भी लगातार बढ़ रहा है। यहां चिकनगुनिया के मरीजों की संख्या बढ़कर 235 हो गई है। चिकनगुनिया के 12 संदिग्ध मरीजों में से रविवार को 5 मरीजों की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। सीएमएचओ जैसानी ने इसकी पुष्टि की है।
साकेत नगर क्षेत्र में सबसे ज्यादा लार्वा आया सामने, अरेरा कॉलोनी में भी बढ़ रहा खतरा
– 641 डेंगू मरीजों की पुष्टि शहर में, रविवार को 98 मरीजों की हुई जांच, 24 की रिपोर्ट मिली पॉजीटिव
– 20 से 25 डेंगू के मरीज रोजाना आ रहे हैं सामने
– 05 मरीजों की अब तक डेंगू से मौत की हुई है राजधानी में
बीमारी बढ़ी तो हो रहा दवा का छिड़काव
चार इमली में डेंगू का लार्वा मिला है। स्वास्थ्य मंत्री रूस्तम सिंह के बंगले में लार्वा निकला है। शिवाजी नगर में ज्यादातर सरकारी अफसरों के बंगले है। इनके बंगलों में लार्वा मिल रहा है। साकेत क्षेत्र में सबसे ज्यादा लार्वा सामने आया है। अरेरा कॉलोनी में भी ऐसी स्थिति है। मलेरिया विभाग को हर चौथे घर में लार्वा मिला है। डेंगू का कहर बढ़ने के बाद दवा का छिड़काव किया जा रहा है।
कलेक्टर को राहत
मुख्यमंत्री के उप सचिव नीरज वशिष्ठ के घर में डेंगू की वजह से तीन सदस्य बीमार हुए थे। वशिष्ठ अब इलाज के बाद स्वस्थ होकर काम पर लौट आए हैं। आईएएस संजय गोयल की पत्नी को भी डेंगू हुआ था। डीआईजी संतोष सिंह की तबीयत बिगड़ने पर डेंगू की आशंका हुई थी। उनके प्लेटलेट्स कम हो गए थे। हालांकि रिपोर्ट में डेंगू निगेटिव आया। अब वे काम पर लौट आए हैं। उधर, कलेक्टर सुदाम खाड़े को भी निगेटिव रिपोर्ट से राहत मिली है।
लोगों की लापरवाही से पनप रहा लार्वा
शहर में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ी है। प्रमुख क्षेत्र में भी डेंगू का लार्वा मिल रहा है। हर चौथे घर में डेंगू का लार्वा मिलने की वजह लोगों की लापरवाही भी है। बचाव के लिए दवा का छिड़काव हो रहा है।
– डॉ सुधीर जैसानी, सीएमएचओ भोपाल