सड़क निर्माण में लगे वाहनों में बम विस्फोट करने पहुंचा इनामी नक्सली गिरफ्तार, टिफिन बम व अन्य सामान बरामद

कोंडागांव।छत्तीसगढ़ में पुलिस को सोमवार को बस्तर क्षेत्र में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस टीम ने अलग-अलग स्थानों से दो इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक जहां सड़क निर्माण कार्य में लगे वाहनों को बम विस्फोट से उड़ाने के लिए आया था। पुलिस ने उसके पास से टिफिन बम सहित अन्य सामाग्री बरामद की है। वहीं दूसरा मुंशी के अपहरण व हत्या में शामिल आरोप है।

– कोंडागांव के बयानार थाना क्षेत्र में सोमवार को सर्चिंग के लिए जिला बल, डीआरजी, सीएएफ को ग्राम मुंगवाल, केजंग, मड़ानार क्षेत्र में रवाना किया गया था। इसी दौरान ग्राम मड़ानार और पेरमापाल के मध्य डोकरी ढोडगी में एक ​व्यक्ति मिला जो पुलिस को देखकर भागने लगा।

– तभी पुलिस टीम ने उसे दौड़ाकर पकड़ लिया। पूछताछ की तो पकड़े गए व्यक्ति ने अपना नाम मोहन कश्यप बताया। जो कि नारायणपुर के ओरछा थानांतर्गत ताड़नार गांव का रहने वाला है। मोहन प्रतिबंधित पीपुल्स वार माओवादी आमदनी एलओएस का सदस्य है।

– मोहन ने पूछताछ के दौरान बताया कि वह रोड कार्य में लगे वाहनों को बम विस्फोट कर पुलिस पार्टी को क्षति पहुंचाने के नीयत से यहां आया हुआ था। पुलिस ने आरोपी के पास से एक टिफिन बम सहित अन्य सामग्री बरामद की है। आरोपी के पर पुलिस ने तीन लाख का इनाम घोषित कर रखा है।

पकड़ा गया नक्सली दंडकारण्य किसान मजदूर संघ अध्यक्ष

– दूसरी कार्रवाई पुलिस टीम ने एक लाख के इनामी नक्सली को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया नक्सली किस्टाराम थाना क्षेत्र में मुंशी के अपहरण और हत्या में शामिल था। पूछताछ में उसने अपना नाम तुर्रम कन्ना बताया। जो कि दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संघ का अध्यक्ष है।

– इस नक्सली पर मुंशी की हत्या के अलावा भी कई आपराधिक मामले दर्ज है। तुर्रम नक्सलियों के लिए रेकी करने, सामान सप्लाई करने और नक्सलियों को किस्टाराम में शरण देने का काम भी करता था।