हीमोफीलिया बीमारी का इस अस्पताल में फ्री ऑपरेशन, खर्च आता है 5 लाख

भोपाल.राजधानी के हमीदिया अस्पताल में हीमोफीलिया से जूझ रहे एक युवक का मुफ्त ऑपरेशन किया गया। प्राइवेट अस्पताल में इसका खर्च करीब 5 लाख रुपए तक आता है। करोंद निवासी विनायक दीक्षित (32) बचपन से हीमोफीलिया से जूझ रहा हैं।
करीब एक सप्ताह पहले दुर्घटना में विनायक के हाथ में फ्रैक्चर हो गया। दुर्घटना के बाद विनायक को निजी अस्पताल ले जाया गया जहां ऑपरेशन का खर्च करीब 5 लाख रुपए बताया गया। इस पर परिजन विनायक को हमीदिया अस्पताल ले आए। यहां अधीक्षक डॉ. दीपक मरावी ने विनायक की जांच कर तुरंत ऑपरेशन का फैसला किया। 25 अक्टूबर को विनायक का सफल ऑपरेशन किया गया। डॉ. मरावी ने बताया कि ऑपरेशन काफी जटिल था। हीमोफीलिया के मरीजों का खून लगातार बहता रहता है। इसे रोकने के लिए फेक्टर -8 की अत्यधिक मात्रा की आवश्यकता होती है। फेक्टर-8 महंगा होने के कारण ऐसे ऑपरेशन बहुत मंहगे होते हैं। हमीदिया में मरीज को फेक्टर-8 के साथ ऑपरेशन में लगने वाली सभी दवाएं भी निशुल्क उपलब्ध कराई गई।
क्या है हीमोफीलिया
अक्सर पुरुषों में होने वाली यह बीमारी आनुवांशिक है। इसमें खून का थक्का नहीं जमता और उन्हें थोड़ी बहुत भी चोट लग जाती है, तो खून का बहना रुकता नहीं है। ऐसे में यदि इस तरह के लोगों का एक्सीडेंट हो जाए, तो यह जानलेवा भी हो सकता है। इन लोगों में थक्का जमने का कारक हिमोफिलिया ए या हिमोफिलिया बी नहीं होता है।