हैरतअंगेज करतब के बीच कलंदर और मलंग पहुंचे दरगाह

अजमेर.महान सूफी संत हजरत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती सालाना उर्स के मौके पर रविवार को देश के विभिन्न हिस्सों से आए कलंदर और मलंगों ने हैरतअंगेज करतब पेश कर अकीदत का नजराना पेश किया। यह सिलसिला सोमवार को भी जारी रहा। यह कलंदर जुलूस के रुप में दरगाह पहुंचे और अपने साथ लाए हुए झंडे दरगाह में लगाएं और लोगों को गरीब नवाज के उर्स की आमद की खबर दी। जानें क्या रहा खास…

– अजमेर में गंजी स्थित गरीब नवाज का चिल्ला से रविवार शाम करीब 4:00 बजे कलंदर वह मलंगों के जुलूस की शुरुआत हुई।

– सबसे आगे कलंदर और मलंगों की एक टोली धारदार हथियारों और नुकीले चीजों से करतब दिखा रहे थे।

– तलवार से जुबान काटना सिर में नुकीली वस्तु घोपना जीव के आर पार सलाई निकालना और Hunter से अपने शरीर पर चोट पहुंचाने आदि करतब यह मलंग दिखा रहे थे। इन्हें देख कर लोग आश्चर्य चकित हो गए।

– कई कमजोर दिल वाले लोग इन करतब को नहीं देख पाए। मार्ग के दोनों और लोगों का हुजूम था और बड़ी संख्या में महिलाएं भी मौजूद थे।

– बैंड वादक ख्वाजा गरीब नवाज की शान मैं धुन बजा रहे थे। ढोल वादक और नगाड़े वादक भी अपनेपन का प्रदर्शन कर रहे थे।

– इनके पीछे देश के विभिन्न हिस्सों से आए फकीर हरे लाल पीले नीले सफेद आदि रंगों के झंडे लिए हुए थे इनमें महिलाएं भी शामिल थी।

– दम मदार बेड़ा पार और हिंद का राजा मेरा ख्वाजा आदि विभिन्न सदाएं यह लोग लगा रहे थे।