16 कलाओं में पूर्ण होकर अमृत बरसाएगा शरद का चंद्र

शारदीय पूर्णिमा पर गुरुवार को चांद अपनी सोलह कलाओं में पूर्ण होकर अमृत बरसाएगा। इस दौरान शहरभर में विभिन्न आयोजन होंगे। कहीं औषधियुक्त खीर का वितरण होगा तो कहीं भंडारे होंगे और गरबा खेलने वाली बालिकाओं को सम्मानित किया जाएगा।

पं. ओम वशिष्ठ ने बताया कि कहा जाता है कि गुरु पूर्णिमा पर चंद्रमा से आरोग्यता प्रदान करने वाली किरणें धरती पर आती हैं। खीर आदि खाद्य पदार्थ इन्हें अवशोषित करता है और खाने वाले को आरोग्यता प्रदान करता है। पं. ब्रजेश तिवारी ने बताया कि सिद्धेश्वर महादेव मंदिर (जगजीवनराम नगर) में शिव-पार्वती और कार्तिकेय का विशेष पूजन होगा।

बर्फानी धाम पर बंटेगी 1500 लीटर दूध की खीर

त्रिपुरा सुंदरी बर्फानी आश्रम ट्रस्ट द्वारा शरद पूर्णिमा उत्सव पर 1500 लीटर खीर दमा रोगियों को वितरित की जाएगी। इसके लिए सुबह 8 से रात 11 बजे तक पंजीयन की व्यवस्था की गई है। मरीजों के परिजन के लिए सामान्य खीर भी प्रसाद के रूप में दी जाएगी।

मरीजों को औषधियुक्त खीर

प्रिंस यशवंतराम आयुर्वेदिक जैन औषधालय द्वारा रात 8 बजे से बियाबानी स्थित प्रेमकुमारी देवी अस्पताल में औषधियुक्त खीर का वितरण किया जाएगा। अध्यक्ष सतीश जोशी ने बताया कि इस मौके पर सेवाभावी कर्मचारियों का सम्मान किया जाएगा।

अखंडधाम आश्रम में शिविर

बिजासन रोड स्थित प्राचीन अखंडधाम आश्रम पर रात 9 बजे दमा रोग निदान शिविर आयोजित किया जाएगा। रात 10 बजे भजन संध्या और औषधियुक्त खीर बांटी जाएगी।

बालिकाओं का सम्मान

जय हिंद मित्र मंडल द्वारा काछी मोहल्ला स्थित शिव मंदिर पर बालिकाएं गरबा करेंगी। रात 8 बजे उनका सम्मान किया जाएगा। साथ ही समाजसेवी, खिलाड़ी-पत्रकार भी सम्मानित होंगे। संरक्षक राजेंद्र मिश्रा और वीरेंद्रसिंह ठाकुर ने बताया कि आयोजन की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

भुवनेश्वरी मंदिर पर भंडारा

अंतिम चौराहा पंचकुइया स्थित भुवनेश्वरी माता मंदिर पर भंडारा होगा। इस अवसर पर नवचंडी महायज्ञ की पूर्णाहुति होगी। आयोजन में कनकेश्वरी देवी, लक्ष्मणदास महाराज आदि मौजूद रहेंगे।