18वां साल लाएगा बड़े बदलाव, आम आदमी को होगा सीधा फायदा

रायपुर।18वें बरस में प्रवेश कर छत्तीसगढ़ राज्य 1 नवंबर को स्थापना दिवस मनाएगा। आने वाला साल छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए कई मायने मंे अहम होगा।  रोजगार और सुविधाएं बढ़ाने वाले चार महत्वपूर्ण कदमों को, जिनसे अगले साल राज्य के लोगों को सीधा फायदा होगा।
– सबसे बड़ा बदलाव बस्तर में देखने को मिलेगा, जहां पर नगरनार में एनएमडीसी का स्टील प्लांट शुरू हो जाएगा। नक्सल प्रभावित इलाके में यह औद्योगिक क्रांति की शुरुआत होगी। राज्य में नया औद्योगिक क्षेत्र विकसित हो जाएगा।
26 जनवरी से बांटे जाएंगे ग्रामीण महिलाओं, युवाओं को स्मार्ट फोन
राज्य की 45 लाख महिलाओं को स्मार्टफोन देने की योजना 26 जनवरी से शुरू हो जाएगी। मूल योजना में पहले केवल बीपीएल महिलाओं को लिया गया था। बाद में सरकार ने इस योजना में छात्रों को भी जोड़ने का फैसला किया है। इसके अलावा स्व सहायता समूह और ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाओं को भी शामिल किया गया। स्काई योजना का फोन खरीदने अलग कंपनी बनी है।
फायदा ऐसे-शासकीय योजनाओं का लाभ घर बैठे लिया जा सकेगा। लोगों को 31 प्रकार की सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध कराई जाएंगी। योजनाओं की जानकारी भी स्मार्टफोन के जरिए लोगों तक पहुंचाई जाएगी।
2 नगरनार प्लांट फरवरी से शुरू होगा, 20 हजार को रोजगार
बस्तर के नगरनार में सालाना 30 लाख टन क्षमता का संयंत्र स्थापना का काम अंतिम चरण में है। भिलाई स्टील प्लांट के बाद छत्तीसगढ़ का दूसरा बड़ा प्लांट है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फरवरी में इसका लोकार्पण करेंगे। संयंत्र की स्थापना में एनएमडीसी ने नीदरलैंड, चेक गणराज्य, इटली समेत भारत के टाटा, भेल जैसे उपक्रमों की मदद ली है।
फायदा ऐसे- करीब 20 हजार नए रोजगार भी पैदा होंगे। इनमें से 10 हजार लोग तो सीधे तौर पर संयंत्र के कर्मचारी होंगे। अासपास छोटी इंडस्ट्रीज खड़ी होंगी। नक्सल प्रभावित क्षेत्र में इस रास्ते विकास पहुंचेगा।
3 नक्सल प्रभावित शहरों में शुरू होगी रेल सेवा, लाइन तैयार
दल्लीराजहरा-जगदलपुर रेललाइन का तीन दशक पुराना इंतजार जल्द खत्म होने वाला है। दल्लीराजहरा से रावघाट-गुदुम तक पैसेंजर ट्रेनें चलने लगी हैं। गुदुम से भानुप्रतापपुर का काम भी दिसंबर तक पूरा हो जाएगा। रेल अफसरों का कहना है कि अगले साल के शुरुआत में इस मार्ग पर भी ट्रेनें दौड़ने लगेंगी। परियोजना पर लगभग 2 हजार करोड़ का खर्च किए जा रहे हैं।
फायदा ऐसे- रेल के जरिए रायपुर-बिलासपुर से जगदलपुर, कोंडागांव, नारायणपुर और कांकेर जुड़ जाएंगे। अब तक सिर्फ सड़क से जुड़े बस्तर के 40 लाख लोगों को रेल सेवा मिलेगी। व्यापारिक दृष्टि से भी ये शहर मजबूत होंगे।
4 राज्य के शहरों के लिए घरेलू हवाई सेवा, किराया 25 सौ रु.
– नए साल से राज्य में भी घरेलू विमान सेवा शुरू हाे जाएगी। केंद्र की रीजनल कनेक्टिविटी योजना के तहत राज्य सरकार ने पहले चरण में जगदलपुर और अंबिकापुर एयरपोर्ट से उड़ान की तैयारी पूरी कर ली है। दूसरे चरण में बिलासपुर और रायगढ़ इस सेवा से जुड़ेंगे। विमानन सचिव मुकेश बंसल ने बताया कि अंबिकापुर और जगदलपुर से दो-तीन महीने में घरेलू विमान शुरू हो जाएंगे।
फायदा ऐसे- जनवरी से प्रदेश के दो छोर के दो बड़े शहर हवाई मार्ग से जुड़ जाएंगे। बस्तर हैदराबाद और विशाखापट्टनम से भी जुड़ेगा। टैक्स में राज्य सरकार की छूट के चलते किराया सिर्फ 2500 रुपए तय किया जा रहा है।
आज से पांच दिनों का राज्योत्सव
नया रायपुर में 1 नवंबर से पांच दिनी राज्योत्सव की शुरुआत गायक सुखविंदर सिंह के प्रोग्राम से होगी। इसी दिन तबलावादक जाकिर हुसैन भी प्रस्तुति देंगे। अंतिम दिन गायक केके का लाइव कंसर्ट होगा। पांच दिनों तक रोज लोककलाकारों के अलावा नामी कलाकारों के कार्यक्रम होंगे।