250 कंपनियों की खुलेगी पोल, 7 राज्यों में बेचा था ग्राहकों का डेटा

एडवाइजरी कंपनियों को ग्राहकों का डेटा बेचने वाले गिरोह ने मप्र, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, ओडिशा, राजस्थान समेत सात राज्यों में उन्हें बेचने की बात कबूली है। गिरोह से मिले कम्प्यूटर, सीपीयू, हार्ड डिस्क और मोबाइल सहित अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को भोपाल की साइबर फॉरेंसिक लैब भेजा गया है। जांच में गिरोह से जुड़े कई महाराष्ट्र व गुजरात के व्यापारियों के नाम सामने आने की संभावना है।

ढाई सौ कंपनियों की उलटी गिनती शुरू

सेबी से 400 एडवाइजरी इंवेस्टमेंट कंपनियों की जानकारी सामने आई है। इनमें से ढाई सौ अपंजीकृत कंपनियां हैं। बिना पंजीयन के शहर में किस तरह वे काम कर रही थीं, इसे लेकर उनकी फाइल खोली जा रही है। इसमें संचालक सहित इसके मैनेजर व अन्य अधिकारियों पर पुलिस नकेल कसेगी।

पिछले दिनों पुलिस ने मोबाइल कंपनियों के ग्राहकों का डेटा बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया था। अभी तक एक महिला सहित आठ आरोपियों को पकड़ा जा चुका है। हाल ही में फरार चल रहा सक्रिय सदस्य धीरेंद्र गुप्ता भी पकड़ा जा चुका है। उसने सात राज्यों में नेटवर्क होना बताया है।