मोदी-शाह से फिर मिले योगी, ‘नए अध्यक्ष’ और 24 घंटे बिजली दिलाने पर हुई बात

सत्ता की कमान संभालने के बाद दूसरी बार दिल्ली आए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह से अलग-अलग करीब एक-एक घंटे की मुलाकात की।

इस दौरान सूबे में नए अध्यक्ष, शीर्ष स्तर पर प्रशासनिक फेरबदल सहित कई अन्य मुद्दों पर विस्तार से बातचीत हुई। सीएम योगी ने राज्य सरकार द्वारा लिए गए कुछ महत्वपूर्ण फैसलों की जानकारी देने केसाथ भावी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की।

माना जा रहा है कि योगी अब जल्द ही प्रशासन में शीर्ष स्तर पर बदलाव करेंगे। सूबे के नए अध्यक्ष की भी जल्द घोषणा होने की संभावना है। अपने दिल्ली प्रवास के दौरान योगी ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह और ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल से भी अलग-अलग मुलाकात की है।

अंतर्राज्यीय परिषद की स्थाई समिति की 11वीं बैठक में शिरकत करने यहां आए योगी ने सबसे पहले शाह से मुलाकात की। माना जा रहा है कि शाह से करीब एक घंटे की मुलाकात के दौरान मुख्य रूप से नए अध्यक्ष और सांगठनिक विषयों पर चर्चा हुई। चर्चा है कि अध्यक्ष पद के लिए किसी दलित चेहरे पर सहमति बनी है। इसके अलावा योगी ने शाह को राज्य सरकार के कुछ हालिया मगर महत्वपूर्ण फैसलों की जानकारी दी और भविष्य की योजनाओं पर भी विचार विमर्श किया। शाह केसाथ बैठक के बाद योगी ने स्थाई समिति की बैठक में उत्तर प्रदेश के लिए विकास के मदद में अधिक से अधिक धनराशि उपलब्ध कराने की मांग की।

24 घंटे बिजली दिलाने पर हुई चर्चा

गृह मंत्री और ऊर्जा मंत्री से मुलाकात के बाद योगी ने प्रधानमंत्री से 7 लोककल्याण मार्ग में मुलाकात की। करीब 45 मिनट की लंबी मुलाकात के दौरान योगी ने पीएम से राज्य के विकास में केंद्र की ओर से बड़े आर्थिक मदद की अपील की।

चर्चा है कि इस दौरान योगी ने पीएम को विकास की दौर में बेहद पीछे छूट गए पूर्वांचल और बुंदेलखंड इलाके के लिए अपनी भावी योजनाओं की जानकारी दी और इसी क्रम में केंद्र से विशेष सहायता उपलब्ध कराए जाने की अपील की। इससे पहले गृह मंत्री से मुलाकात में योगी ने राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति और राज्य सरकार द्वारा अपनाए गए उपायों की जानकारी दी।

शाह से मुलाकात के बाद योगी ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल से मिले। धार्मिक स्थलों, जिला मुख्यालयों में 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने की घोषणा कर चुके सीएम ने राज्य को अगले कुछ वर्षो में जीरो पावर कट राज्य बनाने की अपनी योजना पर गोयल से चर्चा की। इस दौरान गोयल ने उन्हें केंद्र की ओर से हर संभव सहायता उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

Leave a Reply