IS के ठिकाने को तबाह करने के लिए अमेरिका ने अफगानिस्तान पर गिराया 10 टन का बम

अमेरिकी सेना ने बृहस्पतिवार को अफगानिस्तान पर सबसे बड़ा गैर परमाणु बम गिराया है। पेंटागन के हवाले से कहा गया है कि इस्लामिक स्टेट के परिसर में यह बम गिराया गया है। एक बयान में कहा गया है कि यह हमला स्थानीय समय के अनुसार शाम करीब 7 बजे किया गया। पेंटागन के प्रवक्ता एडम स्टंप ने बताया कि इस बम का इस्तेमाल पहली बार किया गया है। यह अमेरिका का सबसे शक्तिशाली बम है। बताया जाता है कि इस विध्वंसक बम से भारी तबाही होती है।
सैन्य सूत्रों ने बताया कि यह बमबारी पूर्वी अफगानिस्तान के नांगरहार प्रांत के अचिन जिले में की गई है। यह इलाका पाकिस्तान से लगता हुआ है। सूत्रों के मुताबिक इस्लामिक स्टेट के आतंकी इस इलाके में कई गुफाओं में रहते हैं। अमेरिका का यह सबसे बड़ा गैर परमाणु बम है। इसे मदर ऑफ ऑल बम्स कहा गया है। एयर फोर्स के स्पेशल ऑपरेशन कमांड ने एयर फोर्स के विशेष विमान एमसी-130 से इस ऑपरेशन को अंजाम दिया है।

अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि इस हमले का मकसद अफगानिस्तान से आईएस को परास्त करना है। अमेरिकी बल इस बात का पूरा ध्यान रख रहा है कि इस हमले में नागरिक कम से कम हताहत हों। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो सका है कि इस हमले से कितना नुकसान पहुंचा है। वर्ष 2003 में जब इस बम का परीक्षण किया गया था तब 32 किलोमीटर दूर से छोटे-छोटे बादलों के गुबार देखने को मिले थे।

Leave a Reply