Box Office : ‘धड़क’ को पहले दिन मिल सकती है इतनी कमाई

कल ‘धड़क’ रिलीज होने वाली है। श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी की पहली फिल्म होने के कारण इसको लेकर अलग ही माहौल है। ऐसे में फिल्म की पहले दिन की कमाई से भी खासी उम्मीद है।

करीब दो साल से 21 साल की ये लड़की सुर्ख़ियों में है। श्रीदेवी की बेटी होने का प्रेशर और बड़े परदे पर करण जौहर जैसे बड़े बैनर के साथ लॉन्च होना, जाह्नवी कपूर के लिए भी बड़ी चुनौती है। जाह्नवी के साथ फिल्म में ईशान खट्टर लीड रोल में हैं। ईशान का भी हिंदी फिल्मों में ये प्रवेश है। उन्होंने इससे पहले माजिद मजीदी की फिल्म ‘बियोंड द क्लाउड्स’ में काम किया था। ईशान, शाहिद कपूर की मां के बेटे (दूसरे पिता से) हैं और जाह्नवी के नाम के पीछे श्रीदेवी और बोनी कपूर हैं।

शशांक खेतान के निर्देशन में बनी ‘धड़क’ की अपनी कोई ओरिजनल कहानी नहीं है क्योंकि ये मराठी की सुपरहिट फिल्म ‘सैराट’ का हिंदी रीमेक है। रिंकू राजगुरु और आकाश ठोसर ने जिस इश्क़ के अमीरी-गरीबी वाले फ़साने को ‘सैराट’ में बयां किया था ठीक वैसा है पार्वती यानि जाह्नवी और मधुकर यानि ईशान पेश करेंगे। ‘सैराट’ में मोहब्बत में बगावत और उसके दुखद अंत को दिखाया गया था, माना जा रहा है करण जौहर की टीम ने उसे बदला नहीं होगा। ‘धड़क’ में आशुतोष राणा, ऐश्वर्या नारकर और अंकित बिष्ट का भी अहम् रोल है। फिल्म को सेंसर ने यू सर्टिफिकेट के साथ पास किया है।

करीब दो घंटे 17 मिनट की इस फिल्म को बनाने में 30 करोड़ रुपए की लागत आई है। जानकार मानते हैं कि ‘धड़क’ को पहले दिन आठ करोड़ रुपए का कलेक्शन मिल सकता है।

फिल्म मेट्रो में अच्छा कर सकती है लेकिन उसके लिए गुजरात और राजस्थान से भी अच्छी कमाई होने की उम्मीद है क्योंकि फिल्म में इस भाग का फ्लेवर दिया गया है। लेकिन एक बड़ा ख़तरा ये है कि फिल्म के ट्रेलर से लेकर गानों तक ‘धड़क’, ‘सैराट’ की धडकनों से बाहर आती नहीं दिखी है। यदि मेकर्स ने इसमें कुछ ट्विस्ट एंड टर्न लाये होंगे और जाह्नवी कपूर की सुर्खियां उनके हुनर को परदे पर लाने में सफ़ल हुई तो ही फिल्म लम्बी रेस का घोड़ा साबित हो सकती है।

‘धड़क’ के निर्देशक शशांक खेतान ने इससे पहले हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया बनाई थी। साल 2014 में आई वरुण धवन- अलिया भट्ट स्टारर इस फिल्म ने पहले दिन नौ करोड़ का कलेक्शन किया था। उसके बाद आई उनकी ‘बद्रीनाथ की दुल्हनिया’ को 12 करोड़ रुपए का कलेक्शन मिला।

धड़क, असल में जाह्नवी नहीं श्रीदेवी के बॉलीवुड में हासिल किये गए स्टारडम की भी परख है। हालांकि बेटी को इस बात का अफ़सोस ज़िंदगी भर रहेगा कि उनकी मां उन्हें पड़े परदे पर देखने के लिए अब इस दुनिया में मौजूद नहीं है। कपूर परिवार के सहारे जाह्नवी ने अपने को टूटने से तो बचा लिया लेकिन श्रीदेवी के सपने को पूरा करने के लिए अब उन्हें अपनी अग्निपरीक्षा के परिणाम का इंतज़ार है।