CG : मौत के जबड़े से लगातार दो बार बेटी को छीन लाई मां

बिर्रा (जांजगीर-चापा)। बोरसी में शुक्रवार को हुई एक घटना ने एक बार फिर सिद्ध कर दिया कि औलाद के लिए मां अपनी जिंदगी भी दांव पर लगाने से नहीं चूकती। खाट पर सो रही माहभर की बच्ची को जबड़े में दबाकर कुत्ते को भागते देख मां ने उसका पीछा किया।

इसी बीच बच्ची छिटककर कुएं में जा गिरी तो मां ने बिना एक पल गंवाए कुएं में छलांग लगा दी और बच्ची की जिंदगी बचा ली। बोरसी निवासी टिकेश चंद्रा (34) सब्जी उगाकर जीवन-यापन करता है। वह बाड़ी में सब्जी तोड़ने गया था।

पत्नी हेमलता दुधमुंही को खाट पर लिटाकर पानी भरने गई थी। जब लौटी तो देखा कि एक कुत्ता बच्ची को जबड़े में दबाए भाग रहा है। चीखते हुए उसने कुत्ते के पीछे दौड़ लगा दी। इसी दौरान बच्ची कुत्ते के जबड़े से छिटककर पास के कुएं में गिर गई।

दौड़ रही हेमलता यह देखते ही कुएं में छलांग लगा दी और पानी में डूब रही मासूस को हाथों में पकड़ सीने से चिपका लिया। फिर एक हाथ से कुएं के पत्थरों को पकड़ लिया। उसकी चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी पहुंच गए। उन्होंने मां-बेटी को बाहर निकाला और जांजगीर के एक अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टर ने बच्ची को सुरक्षित बताया। पुलिस मामले में पूछताछ कर रही है।