Chaitra Navratri 2018: राशियों के मुताबिक करें दुर्गा सप्तशती का पाठ

लखनऊ। नव वर्ष की बेला पर मां दुर्गा की आरधना करने से शक्ति, साहस, सकारात्मकता व सफलता आदि की प्राप्ति होती है। आदि शक्ति मां की कृपा पाने के लिए नवरात्र में सभी लोग अपने-अपने हिसाब से मां दुर्गा पूजन करतें है। नवरात्र में दुर्गा सप्तशती का पाठ अवश्य करना चाहिए। मेष- आप मंगल प्रधान व्यक्ति है, इसलिए आपको क्रोध ज्यादा आता होगा। आप दुर्गा शप्तशती के पहले अध्याय का पाठ करें जिससे टेंशन व क्रोध में कमी आयेगी। वृष- आप शुक्र प्रधान जातक है। भावनाओं में बहकर अकसर त्रुटि कर बैठते जिसका बाद में पछतावा होता है। आप दुर्गा शप्तशती के दूसरे अध्याय का पाठ नियमित नौं दिन तक करने आपके जीवन में सुख व समृद्धि आयेगी। मिथुन- आप बुध प्रधान व्यक्ति है। वाणी के आप धन है और महत्वाकांक्षा आपके खून में समायी है। आपके बाॅस सन्तुष्ट नहीं रहते होंगे। जीवन साथी से अनबन भी रहती होगी। आप दुर्गा शप्तशती के सातवें अध्याय का पाठ करने से लाभ मिलेगा।
दुर्गा सप्तशती का पाठ कर्क- आप चन्द्र प्रधान व्यक्ति है। आप भावनात्मक आवेग पर काबू पाकर जीवन में सफल हो सकते है। दुर्गा सप्तशती के पाॅचवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके जीवन में सफलता के नयें आयाम रच सकते है। सिंह- आप सूर्य प्रधान व्यक्ति है। आप पर बुध का भी अच्छा प्रभाव रहेगा। अनिर्णय की स्थिति आपके कार्यो में बाधा का रूप लेती रहेगी। दाम्प्त्य जीवन में तारतम्य अच्छा रहेगा। इसलिए आप दुर्गा शप्तशती के तृतीय अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके अपनी समस्याओं का समाधान कर सकते है। कन्या- आप बुध प्रधान जातक है। आप बुद्धिमान है, तेज-तर्रार है किन्तु बड़े निर्णय लेने से घबराते है। दुर्गा सप्तशती के दसवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके आप चिन्ता मुक्त एंव भय मुक्त होकर एक अच्छा जीवन व्यतीत कर सकते है।
दुर्गा सप्‍तशती के आठवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करें तुला- आप शुक्र प्रधान व्यक्ति है। आपके आत्म-विश्वास व साहस में यदि कमी रहती है, तो आप दुर्गा सप्‍तशती के छठें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके लाभ प्राप्त कर सकते है। वृश्चिक- आप मंगल प्रधान व्यक्ति है। आपके जीवन में मगंल का विशेष रोल रहेगा। आप-अपने रूखे स्वभाव व क्रोध पर नियन्त्रण रखना होगा। दुर्गा सप्‍तशती के आठवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके अपने व्यवहार में शालीनता व मधुरता लाकर जीवन को सुखमय बना सकते है।

व्यवहार में शालीनता व मधुरता लाकर जीवन को सुधारें वृश्चिक- आप मंगल प्रधान व्यक्ति है। आपके जीवन में मगंल का विशेष रोल रहेगा। आप-अपने रूखे स्वभाव व क्रोध पर नियन्त्रण रखना होगा। दुर्गा सप्‍तशती के आठवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके अपने व्यवहार में शालीनता व मधुरता लाकर जीवन को सुखमय बना सकते है। धनु- आपकी राशि का स्वामी गुरू है। यदि आपकी कुण्डली में कोई भी ग्रह आपको पापी होकर पीड़ित कर रहा है, तो आप दुर्गा सप्‍तशती के ग्यारहवें अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करने से पीड़ित ग्रह आपको शुभ फल देने लगेंगे।

दुर्गा सप्‍तशती का पाठ करें और जीवन को सुखी बनाएं कुम्भ- आप पर विशेषकर शनि का प्रभाव रहेगा। जीवन में सुख व समृद्धि प्राप्त करने के लिए आप दुर्गा सप्‍तशती के चैथे अध्याय का नौं दिन तक विधिवत पाठ करें। मीन- आप गुरू प्रधान व्यक्ति है। व्यापार व विवाह में आ रही बाधाओं को दूर करन के लिए आप दुर्गा सप्‍तशती के नौंवे अध्याय का नौं दिन विधिवत पाठ करके लाभ ही लाभ प्राप्त कर सकते है।