FIFA World Cup: ब्राजील और जर्मनी खिताब के प्रबल दावेदार

फुटबॉल का महाकुंभ ‘विश्व कप’ 14 जून से रूस में शुरू होने जा रहा है। दुनिया की 32 टीमें खिताब के लिए जद्दोजहद करेंगी और चैंपियन का फैसला 15 जुलाई को होगा। टीमों के वर्तमान प्रदर्शन को देखते हुए इस बार का विश्व कप बहुत संघर्षपूर्ण होने का अनुमान है।

विजेता कौन बनेगा इसका सही पूर्वानुमान लगाना तो बेहद कठिन है, लेकिन पांच बार का विजेता ब्राजील, चार बार का विजेता जर्मनी, स्पेन और फ्रांस को खिताब के प्रमुख दावेदारों के रूप में देखा जा रहा है।

ब्राजील

यदि इस बार के विश्व कप में खिताब के प्रबल दावेदारों की बात की जाए तो ब्राजील का नाम सबसे उपर आता है। ‍नए कोच टिटे के मार्गदर्शन में ‍ब्राजील पिछले 20 मैचों में से मात्र 1 मैच हारी है। विश्व कप के क्वालीफाइंग ग्रुप में उसने दूसरे क्रम पर रहे उरुग्वे से 10 अंक ज्यादा हासिल करते हुए पात्रता हासिल की थी। पांच बार के विजेता ब्राजील को पिछली बार अपने घर में सेमीफाइनल में जर्मनी से करारी हार मिली थी, लेकिन इस बार यह टीम छठें खिताब के लिए पूरी ताकत लगाएगी। टीम मुख्यतया: नेमार पर निर्भर करेगी।

जर्मनी

गत विजेता जर्मनी को इस बार भी खिताब के प्रबल दावेदार के रूप में देखा जा रहा है। जोआकिम लोव की टीम भी चाहेगी कि इस बार खिताब जीतकर ब्राजील के पांच विश्व कप खिताब के रिकॉर्ड की बराबरी की जाए। सट्‍टा बाजार के अनुसार जर्मनी को ब्राजील के बाद दूसरा प्रमुख दावेदार माना जा रहा है। विश्व कप से ठीक पहले भले ही जर्मनी का प्रदर्शन इतना प्रभावी नहीं रहा, लेकिन यह टीम विश्व कप में अलग ही रंग में नजर आती है।

स्पेन

2010 की चैंपियन स्पेनिश टीम भले ही अब पहले के समान ताकतवर नहीं रह गई है, लेकिन सर्गियो रामोस, आंद्रेस इनेस्टा और कई प्रमुख खिलाड़‍ि यों की उपस्थिति के चलते यह टीम अभी भी टॉप 3 दावेदारों में शा‍मिल है। स्पेन को अपने ग्रुप में पुर्तगाल, मोरक्को और ईरान का सामना करना है।

फ्रांस

फ्रांसिसी टीम भी विश्व कप खिताब के दावेदारों में शामिल है। फ्रांस ने 20 वर्ष पहले एकमात्र बार यह खिताब हासिल किया था। डिडियर डैशचैम्प्स की टीम में पॉल पोग्बा और एंटोइन ग्रीजमैन जैसे धुरंधर खिलाड़ी मौजूद है। पिछले कुछ समय में फ्रांसिसी टीम ने जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उसके चलते इसकी दावेदारी को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।

अर्जेंटीना

गत उपविजेता अर्जेंटीना भले ही खिताब के प्रबल दावेदारों में शामिल नहीं हो, लेकिन लियोनेल मैसी की इस टीम को कोई हल्के में नहीं आंक सकता है। मैसी का यह संभवत: अंतिम विश्व कप होगा, इसके चलते वे इस बार खिताब के लिए पूरी ताकत लगाएंगे। मैसी वैसे भी यह कह चुके हैं कि उनका अंतरराष्ट्रीय करियर विश्व कप में अर्जेंटीना के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा।

पुर्तगाल

यूरोपियन चैंपियन पुर्तगाल को सट्‍टा बाजार में टॉप फाइव दावेदारों में शामिल नहीं किया गया है, लेकिन क्रिस्टियानो रोनाल्डो की मौजूदगी इस टीम को खतरनाक बनाती है। रीयल मैड्रिड के स्टार रोनाल्डो का भी यह संभवत: अंतिम विश्व कप होगा और वे इसे यादगार बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। फर्नांडो सांतोस की टीम में कई प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ी मौजूद है जो रोनाल्डो के साथ पुर्तगाल के लिए इस विश्व कप को अविस्मरणीय बना सकते हैं।