IPL 10: मुंबई के खिलाफ शतक जड़कर अनचाही सूची में शामिल हुए अमला

इंदौर में मुंबई इंडियंस के खिलाफ सलामी बल्लेबाज हाशिम अमला ने 58 गेंदों पर नाबाद 104 रन बनाए। लेकिन उनकी यह आतिशी पारी पंजाब को जीत नहीं दिला सकी। अमला के शतक की बदौलत पंजाब ने मुंबई को जीत के लिए 199 रन का लक्ष्य दिया था। जिसे मुंबई के बल्लेबाजों ने महज 15.3 ओवर में हासिल कर लिया। आईपीएल इतिहास में यह 8वां मौका था जब किसी बल्लेबाज की शतकीय पारी बेकार गई।

आईपीएल में पहली बार साल 2008 में पहली बार ऐसा हुआ था। जब किसी बल्लेबाज का शतक टीम को जीत दिलाने के लिए नाकाफी साबित हुआ।  साल 2008 में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज एंड्र्यू सायमंड्स के साथ ऐसा हुआ था। राजस्थान रॉयल्स और डेक्कन चार्जर्स के बीच बीच खेले गए मैच में सायमंड्स की नाबाद 117 रन की पारी की बदौलत चार्जर्स ने 214 रन का बनाए थे। लेकिन राजस्थान ने यूसुफ पठान(61) और ग्राह्म स्मिथ(71) की शानदार पारियों की बदौलत एक गेंद रहते 3 विकेट से जीत हासिल की थी।

साल 2010 में राजस्थान रॉयल्स और मुंबई के बीच खेले गए मुकाबले में यूसुफ पठान ने मुंबई द्वारा जीत के लिए दिए गए 213 रनों का लक्ष्य का पीछा करते हुए केवल 37 गेंदों में शतक जड़ा था। लेकिन उनकी टीम लक्ष्य हासिल नहीं कर सकी। राजस्थान को मैच में 4 रन से हार का सामना करना पड़ा था।

साल 2011 में मुंबई इंडियंस और कोच्ची टस्कर्स के बीच मुंबई में खेले गए मैच में मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए सचिन तेंदुलकर के 66 गेंदों में बनाए 100 रन की बदौलत 182 रन बनाए थे। कोच्ची की टीम ने ब्रैंडन मैकुलम(81) और महेला जयवर्धने(56) की शानदार पारियों की बदौसत 19 ओवर में लक्ष्य हासिल कर लिया। मुंबई को इस मैच में 8 विकेट से हार मिली थी।

शेन वाटसन ने साल 2013 में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ 61 गेंदों में 101 रन बनाए थे। उनकी शतकीय पारी की बदौलत राजस्थान रॉयल्स ने चेन्नई के सामने जीत के लिए 186 रनों का लक्ष्य रखा था। जिसे चेन्नई ने माइक हसी की 51 गेंद में 88 रन की धुआंधार पारी की बदौलत 1 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया था। इस मैच में राजस्थान को 5 विकेट से हार मिली थी।

साल 2014 के फाइनल मुकाबले में किंग्स इलेवन पंजाब का मुकाबला कोलकाता नाइट राइडर्स से था। मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब ने रिद्धिमान साहा की 55 गेंद में 115 रन की नाबाद पारी की बदौलत केकेआर के सामने जीत के लिए 200 रन का लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य को कोलकाता ने मनीष पांडे की 94 रनों की पारी की बदौलत 3 गेंद शेष रहते हासिल कर लिया। और कोलकाता 3 विकेट से मैच जीतकर आईपीएल चैंपियन बन गया

आईपीएल के तीसरे सीजन में विराट कोहली ने 4 शतक जड़े थे। इनमें से तीन शतकों की मदद से उनकी टीम विजयी रही लेकिन उनका एक शतक उनकी टीम को जीत नहीं दिला सका। विराट ने गुजरात के खिलाफ 63 गेंदों में 100 रन बनाए थे। विराट के शतक की बदौलत आरसीबी ने गुजरात को जीत के लिए 181 रन का लक्ष्य दिया था जिसे उसने बल्लेबाजों के साझा प्रयास से 3 गेंद रहते हासिल कर लिया।

Leave a Reply