Movie Review: ‘बैंक चोर’

मुंबई: बॉलीवुड फिल्म  ‘बैंक चोर’ आज रिलीज हो चुकी है। इसमें रितेश देशमुख और विवेक ओबेरॉय की अहम भूमिका है। फिल्म की कहानी चंपक (रितेश देशमुख) और उसके दो साथियों गेंदा और गुलाब के इर्द-गिर्द घूमती है। तीनों एक बैंक को लूटने का प्लान बनाते हैं। जब वे बैंक में लूट कर रहे होते हैं, तभी पुलिस और मीडिया को खबर भी लग जाती है और बाहर इनकी भीड़ जमा हो जाती है। सीबीआई इंस्पेक्टर अमजद खान (विवेक ओबेरॉय) को चोरों से निपटने का जिम्मा सौंपा जाता है। आखिर चोर क्यों बैंक को लूटने का प्लान बनाते हैं? क्या अमजद खान इस लूट को रोक पाते हैं? इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी।

बता दें कि फिल्म के लिए बम्पी ने कमाल का डायरैक्शन किया है। उनकी सोच गजब की है। उन्होंने फिल्म के लिए जबरदस्त डायलॉग्स का चयन किया है, जो ऑडियंस को खूब हंसाते हैं। फिल्म की सिनेमैटोग्राफी और एडिटिंग की भी तारीफ करनी होगी। रितेश देशमुख ने जबरदस्त एक्टिंग की है और उनकी कॉमिक टाइमिंग गजब की है। मीडियाकर्मी के रोल में रिया चक्रवर्ती ने अच्छा काम किया है। विवेक का रोल ठीक-ठाक है, जिस पर और काम किया जा सकता था। बाबा सहगल का छोटा सा रोल है, लेकिन वे उसमें फिट बैठे हैं। फिल्म में इंटरवल तक कोई सॉन्ग नहीं है। आगे भी इनकी कोई जरूरत महसूस नहीं होती। बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है।