MP Chunav 2018: पुलिस की भी तलाशी ले रहे कांग्रेस समर्थक, 4 शिफ्ट में दे रहे पहरा

भोपाल। करीब तीन-चार टुकड़ियों में अलाव की गर्माहट के साथ चुनावी चर्चाओं का माहौल गरम है। चार-पांच लोग स्क्रीन के सामने खड़े बातों में मगन हैं। अचानक एक पुलिस कर्मी कंधे पर बड़ा बैग लिए जैसे ही अंदर घुसने की कोशिश करता है, तत्काल तेज आवाज के साथ लोग उसे रोकने की कोशिश करते हैं।

आवाज सुनते ही अलाव छोड़ सारे लोग पुलिस कर्मी के बैग की चेकिंग की मांग करने लगते हैं। अब शोरगुल हंगामे में तब्दील होने लगता है। फिर लोग ही पुलिसकर्मी के बैग की तलाशी लेते हैं। लेकिन कपड़े के अलावा कुछ नहीं मिलता। यह नजारा सोमवार रात 9.30 बजे पुरानी जेल में बनाए गए स्ट्रांग रूम का है।

स्ट्रांग रूम पर पहरा दे रहे कांग्रेस कार्यकर्ता एक-एक गतिविधि पर नजर बनाए हुए हैं। चार शिफ्ट में हो रही चौकसी में कांग्रेस प्रत्याशियों में नरेला से महेंद्र सिंह, दक्षिण-पश्चिम से पीसी शर्मा और मध्य से अरिफ मसूद के समर्थक मुस्तैद हैं। उधर, जिला निर्वाचन अधिकारी कलेक्टर सुदाम खाडे ने भी सुरक्षा-व्यवस्थाओं का जायजा लिया।

चार शिफ्ट में हो रही निगरानी

स्ट्रांग रूम पर प्रत्याशियों ने निगरानी के लिए चार टीमें लगाई गई हैं। रात 12 से सुबह 8, सुबह 8 से दोपहर 2, दोपहर 2 से रात 8 बजे तक फिर रात 8 बजे से रात 12 बजे तक बारी-बारी से चौकसी कर रही हैं। तैनाती में लगे लोगों ने बताया कि मौके पर कम से कम 30 लोगों की मौजूदगी रहती है। रात में तंबू के नीचे आराम के लिए पूरा बंदोबस्त किया गया है। लेकिन 5 लोगों की टीम पूरी रात स्क्रीन के सामने व आने-जाने वालों पर नजर रखते हैं। यहां नास्ते व चाय-पानी का भी इंतजाम प्रत्याशियों ने किया है।

मतगणना में हर उम्मीदवार 17 एजेंट कर सकेंगे नियुक्त

विधानसभा चुनाव 2018 की 11 दिसंबर को मतगणना होनी है। इसके लिए हर उम्मीदवार 17 मतगणना एजेंट नियुक्त कर सकता है। खास बात यह है कि इसके लिए उम्मीदवार 7 दिसंबर शाम पांच बजे तक आवेदन कर सकते हैं। इसे लेकर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम खाडे ने सोमवार को सभी संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

उन्होंने सभी रिटर्निंग ऑफिसर्स को कहा कि अपनी-अपनी विधानसभा के अभ्यर्थियों को सूचित करें कि मतगणना के लिए अभिकर्ता नियुक्ति के फार्म 7 दिसंबर तक जमा किए जाएंगे।इसके बाद फार्म स्वीकार नहीं होंगे। वहीं, मतगणना के दौरान कुछ चिन्हित अधिकारियों के अलावा किसी भी व्यक्ति को सेलफोन लेकर परिसर में आना वर्जित रहेगा।