PM आवास में गड़बड़ी, पंचायतों पर लिखे जाएंगे हितग्राहियों के नाम

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान आवंटन में गड़बड़ी को देखते कलेक्टर ने ग्राम पंचायतों को निर्देश जारी किया है कि हितग्राहियों के नाम-पते पंचायत की दीवारों पर ऑयल पेंट से लिखे जाएं। अगर किसी के नाम पर आपत्ति हो तो ग्रामीण अपनी आपत्ति दर्ज करा सकेंगे, जिस पर जवाबदार अफसर पड़ताल करेंगे। खुद कलेक्टर अनियमितताओं की जांच करेंगे।

सूत्रों के मुताबिक हाल में संपन्न हुई जिला विकास समन्वय समिति एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक में पीएम आवास की योजना में ब्लॉक स्तर पर गड़बड़ियां होने की शिकायत हुई थी। इस पर सांसद रमेश बैस ने पंचायत की दीवारों में हितग्राहियों के नाम लिखने कहा। समिति के सदस्य सचिव ओपी चौधरी ने ग्राम पंचायत के साथ जनपद पंचायतों को इस संदर्भ में आदेश जारी किए हैं।

2 महीने में 41 शिकायतें

कलेक्टर जनदर्शन में सबसे ज्यादा आवास संबंधी शिकायतें पहुंची हैं। दो महीने के भीतर 41 हितग्राहियों ने नियमविरुद्ध योजना का लाभ दूसरों को देने की शिकायत की। अभनपुर क्षेत्र के एक परिवार ने कहा कि घर के मुखिया के जिंदा होने पर भी उसे मृत घोषित कर आवास का लाभ दूसरे को दे दिया गया था।

सरपंच-सचिव पर भी आरोप

गोबरानवापारा की ग्राम पंचायत घोंठ में आवास वितरण में सरपंच-सचिव पर गड़बड़ी का आरोप लगाया गया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी से हुई शिकायत में अपात्र कुंआरे व्यक्ति को योजना का लाभ दिया गया है। विष्णुराम यादव ने शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है।

आज जनदर्शन, शिकायत पर कार्रवाई

कलेक्टोरेट में सोमवार को जनदर्शन कार्यक्रम है। इसमें फरियादियों के आवेदन व शिकायतें दर्ज की जाएंगी। आवास संबंधी दोबारा शिकायत आने पर कलेक्टर सीधे जवाबदार अफसर को तलब कर रिपोर्ट मांगेंगे।