इस फाइनेंशियल ईयर में सेलरी नहीं लेंगे अनिल अंबानी, कर्ज में डूबी है उनकी कंपनी

नई दिल्ली. रिलायंस कम्युनिकेशंस के चेयरमेन अनिल अंबानी ने फैसला किया है कि वह इस फाइनेंशियल ईयर में कोई सेलरी या कमीशन नहीं लेंगे। उनकी कंपनी भारी कर्ज और लॉ क्रेडिट रेटिंग से जूझ रही है।

टॉप मैनेजमेंट ने भी सेलरी टालने का फैसला किया
कंपनी के टॉप मैनेजमेंट ने भी इस साल के आखिर तक अपनी प्राइवेट सेलरी को 21 दिन तक टालने का फैसला किया है।
आरकॉम ने अपने बयान में कहा, रिलायंस ग्रुप के चेयरमेन अनिल डी अंबानी ने अपनी इच्छा से इस वर्तमान फाइनेंशियल ईयर में आरकॉम से अपनी सेलरी या कमीशन नहीं लेने का फैसला लिया है। कंपनी ने कुछ रिणदाताओं को भुगतान नहीं किया है और उसे कर्ज की रणनीतिक पुनर्गठन योजना के लिए दिसंबर तक का वक्त मिला है। कंपनी को सात महीने में 45000 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाना है।

कंपनी की सितंबर में होने वाले दो सौदों पर नजर
अंबानी ने कहा है कि दिसंबर से पहले ही सितंबर तक दो सौदों से कर्ज का बोझ घटकर 20000 करोड़ रुपए रह जाएगा।
आरकॉम ने कहा कि एयरसेल और बुकफील्ड सौदे 30 सितंबर, 2017 तक पूरा हेाने का लक्ष्य रखा गया है और यह काफी कुछ मंजूरी पर निर्भर करेगा। इससे कर्ज 60 फीसदी या 25000 करोड़ रुपए घट जाएगा।