Tubelight Movie Review: पढ़िए कैसी है सलमान खान की ‘ट्यूबलाइट’?

फिल्म समीक्षा: सलमान खान की फिल्म ‘ट्यूबलाइट’ सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है। कबीर खान के निर्देशन में बनी इस फिल्म में सलमान ने पहली बार एक मंदबुद्धि व्यक्ति का किरदार निभाया है। सलमान के अलावा फिल्म में सोहेल खान, ओम पुरी, चाइनीज एक्ट्रेस जू जू और चाइल्ड आर्टिस्ट माटिन रे तंगू भी हैं। फिल्म में दो भाइयों की कहानी दिखाई गई है, जिनका नाम लक्ष्मण और भरत है। लक्ष्मण के किरदार में दिखे हैं सलमान खान और सोहेल खान भरत की भूमिका में हैं। कैसी है फिल्म आइए इसकी समीक्षा करते हैं।

कहानी

फिल्म की शुरूआत होती है एक खूबसूरत लोकेशन से जो भारत और चाइना के बॉर्डर पर है, यहां एक छोटा सा गांव है जहां भरत और लक्ष्मण नाम के दो भाई रहते हैं। लक्ष्मण यानी सलमान खान जिसे चीजें थोड़ी देर से समझ में आती हैं इसलिए गांव के सभी बच्चे उन्हें ट्यूबलाइट कहकर बुलाते हैं। लक्ष्मण का एक छोटा भाई है भरत, सारी दुनिया लक्ष्मण का मजाक उड़ाती है लेकिन भरत को यकीन है कि उसका भाई किसी से कम नहीं है।

खैर कहानी आगे बढ़ती है और बॉर्डर पर जंग छिड़ जाती है, भरत का सलेक्शन आर्मी में हो जाता है और वो जंग लड़ने बॉर्डर पर चला जाता है। वहां से सैनिकों के शहीद होने की खबर आने लगती है, भरत का कुछ पता नहीं चलता है लेकिन लक्ष्मण को यकीन होता है उसका भाई लौटेगा अब लक्ष्मण का यकीन जीतता है या नहीं ये देखने के लिए आपको सिनेमाघरों का रुख करना पड़ेगा।

अभिनय

फिल्म में सलमान खान का बिल्कुल जुदा अवतार में दर्शकों के सामने आते हैं। यह पहला मौका है जब सलमान ने इस तरह का किरदार प्ले किया है। सलमान ने अभिनय में पूरी मेहनत की है और वो कामयाब होते भी दिखे हैं। कई जगह उन्होंने अपने अभिनय से दिल जीत लिया है। सोहेल ने भी अपना रोल बखूबी निभाया है। लेकिन फिल्म की जान हैं बाल कलाकार माटिन रे तंगू और चाइनीज एक्ट्रेस जू जू। इन दोनों की एंट्री से फिल्म में इंट्रेस्ट बढ़ जाता है

माटिन ने बहुत अच्छा अभिनय किया है और उसका मासूम अंदाज आपको खुश कर देगा। जू जू ने भी कमाल का अभिनय किया है, वो बेहद खूबसूरत भी लगी हैं। फिल्म में दिवंगत अभिनेता ओम पुरी भी हैं जिन्हें पर्दे पर देखकर आपको अच्छा लगेगा।

संगीत

फिल्म के गाने सजन रेडियो और तिनका तिनका रिलीज से पहले ही हिट हो चुके हैं। फिल्म में भी गाने अच्छे लगे हैं। प्रीतम का संगीत अच्छा है और मौज मस्ती के बीच ये गाने चलते हैं तो अच्छे लगते हैं।

शाहरुख का कैमियो था निराशाजनक

मुझे फिल्म में शाहरुख के कैमियो से काफी उम्मीदें थीं। लेकिन कैमियो बेहद कमजोर था। शाहरुख के हिस्से जो डायलॉग थे वो भी नहीं अच्छे थे। सलमान शाहरुख स्क्रीन में एकसाथ हो तो काफी उम्मीदें होती हैं उस सीन से लेकिन ये फिल्म शाहरुख वाला जादू दिखाने में नाकामयाब रही।

 

खूबियां

फिल्म में दिख रहा है सलमान खान बिल्कुल अलग अंदाज में नजर आ रहे हैं। छोटा स्टार माटिन है फिल्म की जान है, माटिन अपने मासूम अंदाज से दिल जीत रहा है। विषय अच्छा है फिल्म का।​

कमियां

फिल्म में सबसे ज्यादा निराशा मुझे कबीर खान से हुई। कबीर फिल्म के डायरेक्टर भी हैं और उन्होंने फिल्म की पटकथा भी लिखी है। फिल्म की पटकथा बिखरी हुई है और डायरेक्शन में भी कसावट नही दिखी है। खासतौर पर फिल्म के इमोशन सीन दिखाने में कबीर खान फेल हुए हैं, फिल्म में सीन चल रहे होते हैं जिन्हें हम देख रहे होते हैं लेकिन कहीं भी आप उन्हें देखकर इमोशनल नहीं होंगे।

फिल्म का विषय अच्छा था जिस पर अच्छी फिल्म बनाई जा सकती है। फिल्म देखते वक्त लगता है अब फिल्म खत्म हो गई लेकिन फिल्म खत्म नहीं होती। कहा गया था कि ये फिल्म सलमान की अब तक की सबसे छोटी फिलम है लेकिन फिर भी ये अंत तक आते आते बोझिल लगने लगी थी। फिल्म का क्लाइमेक्स बहुत प्रेडिक्टिबल था इसे बेहतर बनाया जा सकता था।

सलमान का रोमांस था मिसिंग

फिल्म में सलमान के अपोजिट कोई एक्ट्रेस नहीं थी। फिल्म में चाइनीज एक्ट्रेस जू जू हैं लेकिन उनके साथ सलमान का रोमांटिक अटैचमेंट नहीं होता। सलमान के फैंस इस फिल्म में सलमान का रोमांटिक अवतार मिस जरूर करेंगे।

​फिल्म में सोहेल का लव एंगल दिखाया गया था लेकिन वो बहुत कम था, उसे और बढ़ाया जाना चाहिए था।

देखे या नहीं

अगर आप सलमान खान के फैन हैं तो ये फिल्म देख सकते हैं। सलमान को स्क्रीन पर देखकर आपको अच्छा लगेगा कुछ सीन में वो कमाल कर गए हैं। अगर सलमान के फैन नहीं है तब भी एक बार इस फिल्म को देखा जा सकता है, खासतौर पर इंटरवल के पहले तक फिल्म काफी मजेदार है।

स्टार रेटिंग

सलमान खान ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा था कि उनकी फिल्म को क्रिटिक्स माइनस 100 भी दें तब भी उनके फैंस उनकी फिल्म देखने जाएंगे। फिर भी आपकी सुविधा के लिए मैं इस फिल्म को ढाई स्टार दूंगी।